हमारा टूर खत्म हो चूका था

हमारा टूर खत्म हो चूका था. सब अपने –अपने घर चले गये. स्नेहा भी अपने घर चली गई. अब मेरे लिए समय काटना मुश्किल हो गया. आँखों को उसे देखने की आदत हो गई थी. उसके बिना घर पर मन नहीं लग रहा था. उस समय मुझे पहले बार एहसास हुआ. मैं उसके बिना नहीं रह सकता हूँ. वही मेरी जान है वही जहाँ है. उस देखने के लिए मन बेचैन हो गया. यह बात मैं अपने दोस्त को बताया. उसने बोला – “जा साफ-साफ बता दे उसे की मैं तुमसे प्यार करता हूँ.” मुझे भी उसकी बात अच्छी लगे. मैं भी सोच लिया अब उसे बता दूंगा की तुमसे प्यार करता हूँ. फिर दुसरे ही पल मन डर गया. अगर वह बुरा मान गई तो दोस्ती भी खत्म हो जाएगा. उस से बात करने का मौका भी चला जाएगा. दिल की बात मैंने दिल में ही दबा ली.

कॉलेज एक बार फिर खुला. exam चलने लगा था. फिर कुछ ही दिन बाद exam खत्म हो गया और वह अपने गावं चल गई. मेरे लिए जीना मुश्किल हो गया. मैं उसके बिना जी नहीं सकता था. कितने दिन तक खाना नहीं खाया. घर से दूर किसी सुनसान इलाके में बैठकर खूब रोता. मुझे अब अपने आप पर गुस्सा आ रहा था. मैं अपने प्यार का इजहार क्यों नहीं किया.

काफी साल बित जाने के बाद भी उसका उसका प्यार मेरे दिल में वही है. उसका चेहरा आँखों में वही है. वह मुझे नहीं मिली तो क्या हुआ मैं तो प्यार करता हूँ. मैं कल भी उस से प्यार करता था, आज भी करता हूँ और कल भी करता रहूँगा.

अब हमलोग 12th में आ गये थे

अब हमलोग 12th में आ गये थे. तभी कॉलेज के तरफ से दुसरे जगह जाने का टूर प्रोग्राम आया. मैं सोच कर बहुत ही खुश था की कुछ दिन स्नेहा के साथ बीतेगा. मगर जल्द ही मेरे ख़ुशी पर काले बादल छा गये. जब ये पता चला की स्नेहा हमारे साथ नहीं जा रही है. मैं बहुत उदास हो गया. मेरा भी मन अब जाने का नहीं कर रहा था. मगर जाता पड़ा.

हम सब ट्रेन में आ गये थे. मैं पहले ही आकर अपने सीट पर बैठ गया था. मेरा मन नहीं लग रहा था. ट्रेन चल पड़ी थी. मैं अपने सीट से उठा और उस डिब्बे में घुमने लगा. मेरी नजर एक लड़की पर पड़ी. मेरी आखे चमक उठी. चहरे पर मुस्कान आ गया. मैं अंदर ही अंदर झुमने लगा. सामने स्नेहा बैठी थी. मेरी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा. 2 रात और 3 दिन का यह टूर मेरे लिए बहुत ही अच्छा बिता. हमने काफी पल साथ बिताये. मगर इतना हिम्मत नहीं हो पाया की उस से अपने दिल की बात कह सकू.

हमारी love story शुरू हुई थी

हमारी love story शुरू हुई थी 11th class से. मैं अपने class में सबसे कम बोलने वाला लड़का था. बहुत ही शर्मिला. फिर हमारे ही class में एंट्री ली एक बहुत ही खुबशुरत लड़की ‘स्नेहा’. वह सबसे अलग थी. उसमे कुछ अलग बात थी. सुन्दरता तो जैसे स्वर्ग के परियो से मांग कर लाई हो. बड़ी-बड़ी आँखे, नुकीले नाक, गुलाबी गाल और काले-काले लम्बे बाल. जिस दिन वह उजली शूट पहन कर आती बिलकुल ही पारी के समान लगती थी.

वह भी मेरे तरह कम बोलने वाली थी. वह मुझे मेरे जैसी लगी. मैं उसे चाहने लगा. हमेशा वह मेरे ख्यालो में ही रहती. मैं उस से बात करने के बहाने ढूढने लगा. तब तक उसने हमारा ग्रुप भी ज्वाइन कर लिया था. हमारी हल्की-फुलकी बात होने लगी थी. मगर उसे ये एहसास नहीं था की मैं उस से कितना प्यार करता हूँ. कितनी ही बार सोचा की आज उसे बता दू. मगर जैसे ही वो सामने से आती हुई दिखाई देती मेरा धडकन बढ़ जाता और दिमाग blank हो जाता. सारी बाते भूल जाता.

दिल की बात दिल में ही रह जाती है

दिल की बात दिल में ही रह जाती है. बस एक डर की वजह से ‘अगर वो गलत समझ ली तो क्या होगा?’ हमारी दोस्ती भी खत्म हो जाएगी. इस एक डर की वजह से हमारे जैसे कितनो ने अपना love खो दिया. और उस बात का अफ़सोस आज भी होता है. काश उसे बता दिया होता. – “मैं तुमसे प्यार करता हूँ. मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकता हूँ. तुम जो करो तुम्हारे ऊपर है मगर मैं तुमसे love करता हूँ.”

आज इतने साल बित जाने के बाद भी यह बात धड़कन तेज कर देती है. मन बेचैन होता है और आँखे देखने के लिए उसे ढूढने लगती है. यह जानते हुए भी की वो है ही नहीं. जो मिलेगा ही नहीं. उस समय की सारी तस्वीर आँखों के सामने घुमने लगता है. आज वह बेचैनी फिर से बढ़ गई है. उसके यादें दिल को तड़पा रही है. अपनी कहानी आपलोग के साथ शेयर कर रहा हूँ शायद दिल का बोझ हल्का हो जाये.

जो लड़की मेरे बिना नहीं रहती

जो लड़की मेरे बिना नहीं रहती थी वो मेरे बिना रह रही है. उसका कमजोरी था, मैं उसका सपना था. और सबकुछ छोड़ दी. मुझे रोते हुए अकेला छोड़ गई. उस रास्ते पर जहाँ से हमने साथ चला था. मेरे पापा ने मुझे बहुत समझाया “और भी लड़कियां है इस दुनियाँ में.” मगर मुझे कोई और नहीं चाहिए मुझे तो बस पायल चाहिए. बस पायल. मैं उसके बिना इस लाइफ के बारे में सोच भी नहीं सकता. उसके यादे ही अब जीने का सहारा है. और उसे हमेशा love करता रहूँगा.

उसके घर पंहुचा तो उसके पापा

उसके घर पंहुचा तो उसके पापा मिल गये. “कौन हो आप.” उसके पापा ने मुझसे पूछा.

“जी मैं पायल का दोस्त हूँ. पायल से कुछ काम है.” मैं उनसे कहा तब तक पायल आती हुई दिख गई.

उसके पापा ने पायल से पूछा –“कौन है यह? तुमसे मिलने के लिए आया है.”

“कौन है यह? मैं नहीं जानती इसे.” पायल ने मेरे तरफ देखते हुए कहा. उसका चेहरा बिलकुल अनजाने की तरह लग रहा था. जैसे वो मुझे जानती ही नहीं हो. मैं उसके चहरे के तरफ देख रहा था. यह क्या बोल रही? मुझे नहीं जानती यह! तो वह सब क्या था? सारे झूठे थे? वह प्यार झूठा था? वह साथ झूठा था? मैं आसू लिए आखो से उसे देखा. एक बेरुखा सा चेहरा देखा, एक अनजान बनती आँखे.

एक दिन बीत गया, फिर दो दिन

काफी दिन हो गये. एक दिन अचानक उसका call आया और बोली – “मैं तुमसे प्यार नहीं करती हूँ. मुझे call मत करना. मुझसे मिलने की कोशिश मत करना.” इतना कहकर उसने call कट दिया. मैं उसे call नहीं किया सोचा मजाक कर रही है. इतना सीरियस तो कभी नहीं होती है. मुझे उसका इस तरह के गुस्सा पसंद आता था. बहु अच्छा लगता था जब वह गुस्सा होकर बोलती थी.

एक दिन बीत गया, फिर दो दिन,……….ऐसे ही 5 दिन बीत गये. उसका call नहीं आया. मैं call करता तो उसका mobile स्विच ऑफ आता. मैं बहुत ही परेशान हो गया. एक तो 5 दिन से बात बही हुई थी दूसरा पता नहीं क्या प्रॉब्लम आ गई की call नहीं कर रही है. आज तक ऐसा नहीं हुआ. वह खुद कभी इतना दिन तक नहीं रही. 2 घंटे call नहीं जाये तो call पर call करने लगती थी. मेरे समझ में नहीं आ रहा था की क्या करे. बहुत सोचने पर भी कुछ रास्ता नहीं निकला. बस एक ही रास्ता था उसके घर जाकर पता करना. मैं तुरंत ही बाइक निकला और उसके घर के तरफ चल दिया.

एक दिन की बात है

एक दिन की बात है. मैं उस दिन कॉलेज नहीं गया था. मुझे बुखार आ रहा था. कुछ देर बाद पायल का call आ गया. मैं उसे बताया की मुझे बुखार आ रहा है. मैं उसे बताना नहीं चाह रहा था, क्योंकी मुझे पता था वह class छोड़ कर चली आएगी और हुआ भी यही कुछ ही देर बात वह मेरे पास थी. प्रश्न पर प्रश्न होने लगे. दवा लिया? खाना खाया? मुझे पहले बताया क्यों नहीं? मैं मन-ही-मन सोचता ऐसी बुखार तो रोज आये. इतना प्यार इतनी सेवा मिले तो हर दुःख मंजूर है. ऐसा प्यार नसीबो से मिलता है. वह नसीब मेरे साथ था.

इनता प्यार देखर कर मेरे पापा बोलते – “तू उस से शादी कर ले.” मैं भी यही सोच रहा था. क्यों की मैं भी उसके बिना नहीं रहा सकता था. वही सब कुछ थी. मैं उसे के बारे में सोचता रहता. और उसी से शादी के सपने देखता.

हमारे कितने सुनहले दिन थे वो

हमारे कितने सुनहले दिन थे वो. जीवन का सारा ख़ुशी मिल रहा था. क्यों की मैं एक लड़की से प्यार करता था. और वह मुझसे 100 गुना ज्यादा प्यार करती थी. हमारे दिन ऐसे कट रहे थे जैसे कोई सुनहला सपना सच हो रहा हो. मेरे लाइफ की सबसे खुबशुरत चीज थी वो. हमारा हर पल साथ बीतता. ‘पायल’ नाम था उसका.

हम दोनों अक्सर झगड़ा करते रहते थे और मैं तो जानबूझ कर करता क्यों की उसका मनाना बहुत ही अच्छा लगता था. जब वह सर झुकाकर सॉरी बोलती तो उसके चहरे का मासूमियत देखकर मुझे हँसी आ जाती. उसे झट से गले लगा लेता.

“कोई इतना प्यार भी करता है किसी से.” जब मैं पूछता तो उसका एक ही जवाब होता –

“मैं किसी और के बारे में नहीं जानती हूँ. मेरे लिए तुम ही सब कुछ हो. तुम्हारे बिना मैं इस जीवन की कल्पना से कांप जाती हूँ. तुम नहीं तो कुछ भी नहीं मेरा इस संसार में.”

“मैं भी तुम्हारे बिना नहीं रह पाउँगा. तुम मुझे छोड़ कर तो नहीं जाओगी न.” मुझे इस बात का एहसास था की पायल जितना प्यार करने वाली लड़की मुझे कभी नहीं मिलेगी. मैं भी उसे खोने से डरता था.

 

Kyu chale gye tum mujhe akela chhodkar..

Kyu chale gye tum mujhe akela chhodkar..
Baate To Bahut badi Badi Kiya Karte The, Sath Jine Marne Ki Kasme Khaya karte the..

Aaj Bhi Jab Bhi O Sab Sochta Hu,  To Dil Itna Rota Hai Ki Aasu Nikal Hi Jate Hai..

Nikle Huye Aashu  Ye Kah Jate Hai,  Ki Rote Ho Kyu Jab Tum Uski Khusi Chahte Ho..

Kyu Kiya Aisa Yarr, Kyu Mujhe Bich Safar Me Chhod Diya..

Kitna Khus Tha Mai, Teri Khusi Me Kita Khus Tha Mai , Jab Tu Mere Sath or Tere Sath Tha Mai..

Ek Bhi Din Aisa Na Tha Jisme Dukh Tha Mai..
Ro Raha Hu Mai, Tumhe Pta Hai Ro Raha hu Mai..

Kabhi Ek Time Aisa Tha Ki Teri Ek Sikan Me Ghnto Roya Karta Tha Mai..
Or Aaj Tum You Chale Gye Ki Meri Sari Khusiya Gam Me Badal Gyi..
Kyu Kiya Yarr Aisa….

Ek Jaha Tha apna Ek Sapna Tha Apna , Rone Ki Wajah Thi Nahi ,Or Hasne Ki Wajah Tumne Di Nahi Kabhi..

Jate Jate Tum Itni Dur Chale Gye,  Ki Paya Mai Khud Ko Akela..
Kitna Dard Hai Is Dil Me Kaise Samjhau Tumhe..

college ka pahala pyar

तेरे शहर में आ कर बेनाम से हो गए,
तेरी चाहत में अपनी मुस्कान ही खो गए,
जो डूबे तेरी मोहब्बत में तो ऐसे डूबे,
कि जैसे तेरी आशिक़ी के गुलाम ही हो गए।

क्यूँ किसी से इतना प्यार हो जाता है,
एक दिन का भी इंतजार दुश्वार हो जाता है,
लगने लगते है अपने भी पराए,
जब एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है।

तेरे रंग में ऐसे रंगीन हो गए हैं हम,
कि तेरे बिना जिंदगी के रंग फीके लगेंगे।

हम भी कुछ प्यार के गीत गाने लगे हैं,
जब से ख़्वाबों में मेरे वो आने लगे हैं।

तपती दोपहरी, गरम रेत पर…
ठंडे पानी की बूँदों जैसा काम कर गई…
तेरी आवाज़ जो कल सुनी मैंने…।

अगर आप अजनबी थे तो लगे क्यों नहीं,
और अगर मेरे थे तो मुझे मिले क्यों नहीं।

 

mujhe hone lagahe pyar

 

तपती दोपहरी, गरम रेत पर…
ठंडे पानी की बूँदों जैसा काम कर गई…
तेरी आवाज़ जो कल सुनी मैंने…।

तेरे शहर में आ कर बेनाम से हो गए,
तेरी चाहत में अपनी मुस्कान ही खो गए,
जो डूबे तेरी मोहब्बत में तो ऐसे डूबे,
कि जैसे तेरी आशिक़ी के गुलाम ही हो गए।

हम भी कुछ प्यार के गीत गाने लगे हैं,
जब से ख़्वाबों में मेरे वो आने लगे हैं।

क्यूँ किसी से इतना प्यार हो जाता है,
एक दिन का भी इंतजार दुश्वार हो जाता है,
लगने लगते है अपने भी पराए,
जब एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है।

अगर आप अजनबी थे तो लगे क्यों नहीं,
और अगर मेरे थे तो मुझे मिले क्यों नहीं।

तेरे रंग में ऐसे रंगीन हो गए हैं हम,
कि तेरे बिना जिंदगी के रंग फीके लगेंगे।

 

tere bin kaise jiun

 

तेरे शहर में आ कर बेनाम से हो गए,
तेरी चाहत में अपनी मुस्कान ही खो गए,
जो डूबे तेरी मोहब्बत में तो ऐसे डूबे,
कि जैसे तेरी आशिक़ी के गुलाम ही हो गए।

क्यूँ किसी से इतना प्यार हो जाता है,
एक दिन का भी इंतजार दुश्वार हो जाता है,
लगने लगते है अपने भी पराए,
जब एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है।

हम भी कुछ प्यार के गीत गाने लगे हैं,
जब से ख़्वाबों में मेरे वो आने लगे हैं।

तेरे रंग में ऐसे रंगीन हो गए हैं हम,
कि तेरे बिना जिंदगी के रंग फीके लगेंगे।

अगर आप अजनबी थे तो लगे क्यों नहीं,
और अगर मेरे थे तो मुझे मिले क्यों नहीं।

तपती दोपहरी, गरम रेत पर…
ठंडे पानी की बूँदों जैसा काम कर गई…
तेरी आवाज़ जो कल सुनी मैंने…।

 

love status teri sans

दिल पे आए हुए इल्ज़ाम से पहचानते हैं,
लोग अब मुझ को तेरे नाम से पहचानते हैं।

नजर से क्यूँ जलाते हो आग चाहत की,
जलाकर क्यूँ बुझाते हो आग चाहत की,
सर्द रातों में भी तपन का एहसास रहे,
हवा देकर बढ़ाते हो आग चाहत की।

उसके लिये तो मैंने यहाँ तक दुआएं की है,
कि कोई उसे चाहे भी तो बस मेरी तरह चाहे।

तेरे शहर में आ कर बेनाम से हो गए,
तेरी चाहत में अपनी मुस्कान ही खो गए,
जो डूबे तेरी मोहब्बत में तो ऐसे डूबे,
कि जैसे तेरी आशिक़ी के गुलाम ही हो गए।

क्यूँ किसी से इतना प्यार हो जाता है,
एक दिन का भी इंतजार दुश्वार हो जाता है,
लगने लगते है अपने भी पराए,
जब एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है।

status kahdu tumhe ya chu rahu

किसी मोड़ पर तेरा दीदार हो जाये,
काश तुझे मुझ पर ऐतबार हो जाये,
तेरी पलकें झुके और इकरार हो जाये,
काश तुझे भी मुझसे प्यार हो जाये।

भंवर से निकलकर किनारा मिला है,
जीने को फिर से एक सहारा मिला है,
बहुत कशमकश में थी ये ज़िंदगी मेरी,
उस ज़िंदगी में अब साथ तुम्हारा मिला है।

ज़िन्दगी से यही गिला है मुझे,
तू बहुत देर से मिला है मुझे,
तू मोहब्बत से कोई चाल तो चल,
हार जाने का हौसला है मुझे।

मेरे दिल ने जब भी कभी कोई दुआ माँगी है,
हर दुआ में बस तेरी ही वफ़ा माँगी है,
जिस प्यार को देख कर जलते हैं यह दुनिया वाले,
तेरी मोहब्बत करने की बस वो एक अदा माँगी है।

राह में संग चलूँ ये न गँवारा उसको,
दूर रहकर वो करता है इशारे बहुत,
नाम तेरा कभी आने न दिया होंठों पर,
यूँ तेरे जिक्र से शेर सँवारे हैं बहुत

 

sad love status teri yad

 

जिसको चाहो उसे चाहत बता भी देना,
कितना प्यार है उससे ये जता भी देना,
कि दिल उसका कहीं और ना लग जाए,
करके इज़हार उसके दिल को चुरा भी लेना,
गलती से रूठे कभी तो उसे मना भी लेना,
कि बहुत हसीन होता है ये प्यार का रिश्ता,
कभी ग़लती से भी इसे तोड़ ना लेना।

वो किताब लौटाने का बहाना तो लाखों में था,
लोग ढूढ़ते रहे सबूत पैगाम तो आँखों में था।

अब कैसे कहें कि अपना बना लो मुझको,
अपनी बाहों की क़ैद में समा लो मुझको,
एक पल भी बिन तुम्हारे काटना है मुश्किल,
अब तो मुझसे ही चुरा लो मुझको।

तमन्नाओं के ये दिए जलते रहेंगे,
मेरी आँखों से आँसू निकलते रहेंगे,
आप शमां बनके दिल में रौशनी तो करो,
हम तो मोम बनकर पिघलते रहेंगे

प्यार का बदला कभी चुका न सकेंगे,
चाह कर भी आपको भुला न सकेंगे,
तुम ही हो मेरे लबों की हँसी…
तुमसे बिछड़े तो फिर मुस्कुरा न सकेंगे।

किसी मोड़ पर तेरा दीदार हो जाये,
काश तुझे मुझ पर ऐतबार हो जाये,
तेरी पलकें झुके और इकरार हो जाये,
काश तुझे भी मुझसे प्यार हो जाये।

sad love status

 

अमल से भी माँगा वफ़ा से भी माँगा,
तुझे मैंने तेरी रज़ा से भी माँगा,
न कुछ हो सका तो दुआ से भी माँगा,
कसम है खुदा की खुदा से भी माँगा।

नहीं जो दिल में जगह तो नजर में रहने दो,
मेरी हयात को तुम अपने असर में रहने दो,
मैं अपनी सोच को तेरी गली में छोड़ आया हूँ,
मेरे वजूद को ख़्वाबों के घर में रहने दो।

तुम हँसते हो तो मुझे हँसाने के लिए,
तुम रोते हो तो मुझे रुलाने के लिए,
एक बार हमसे रूठ कर तो देखिये,
मर जायेंगे आपको मनाने के लिए।

मेरी आँखों में मोहब्बत की चमक आज भी है,
फिर भी मेरे प्यार पर उसको शक आज भी है,
नाव में बैठ कर धोये थे उसने हाथ कभी,
पानी में उसकी मेहँदी की महक आज भी है।

मैने सब कुछ पाया है बस तुझको पाना बाकी है,
कुछ कमी नहीं जिंदगी में बस तेरा आना बाकी है।

तेरी धड़कन ही ज़िंदगी का किस्सा है मेरा,
तू ज़िंदगी का एक अहम हिस्सा है मेरा,
मेरी मोहब्बत तुझसे सिर्फ लफ़्ज़ों की नहीं है,
तेरी रूह से रूह तक का रिश्ता है मेरा।

आपके नाम ये खुला पैगाम लिखते हैं,
आपकी याद में गुजरी वो शाम लिखते हैं,
वो कलम भी आपकी दीवानी हो जाती है,
जिससे हम आपका नाम लिखते हैं।

IPL 2018 ର ପୁରା ଲିଷ୍ଟ

ବିଶ୍ୱର ସବୁଠାରୁ ଚର୍ଚିତ କ୍ରିକେଟ ଲିଗ IPL ଚଳିତ ବର୍ଷ ପାଇଁ ନିଜର ଖେଳାଳି ନିଲାମୀ ପ୍ରକ୍ରିୟା ଶେଷ କରିଛି |କିଛି ଖେଳାଳି ବହୁତ ଅଧିକ ଦାମ ରେ ବିକ୍ରି ହୋଇ ଜଟିଲେ ମଧ୍ୟ କିଛି ବିଶେଷ ଖେଳାଳି ମଧ୍ୟ ଶେଷକୁ ବହୁତ କମ ମୂଲ୍ୟରେ ବିକ୍ରି ହୋଇଥିଲେ |ଦାମୀ ଖେଳାଳିଙ୍କ ମଧ୍ୟରେ ଅଛନ୍ତି

  • ବେନ ସ୍ଟ୍ରୋକସ : ୧୨.୫ କୋଟି
  • ଜୟଦେବ ଊଂଡକ୍ଟ : ୧୧ .୫ କୋଟି
  • କେ.ଏଲ ରାହୁଲ :୧୧ କୋଟି
  • ମନୀଷ ପାଣ୍ଡେ :୧୧ କୋଟି

ଇତ୍ୟାଦି |ତେବେ ଜଣାନ୍ତୁ କେଉଁଦଳରେ କେଉଁ ଖେଳାଳି ରହିଲେ

ଦିଲ୍ଲୀ ଡେୟାର ଡେଭିଲସ

 

ରାଜସ୍ଥାନ ରୟାଲସ

 

 

କୋଲକାତା ନାଇଟ ରାଇଡ଼ର୍ସ

 

ଚେନ୍ନାଇ ସୁପର କିଙ୍ଗସ

 

ରୟାଲ ଚାଲେଞ୍ଜର୍ସ ବାଙ୍ଗାଲୋରସ

 

 

ସନ ରାଇଜର୍ସ ହାୟାଦରବାଦ

 

ମୁମ୍ବାଇ ଇଂଡିଆନ୍ସ

 

 

କିଙ୍ଗସ ୧୧ ପଞ୍ଜାବ

 

(@All image credit goes to cnnnews18 )

ବିଶ୍ୱର ସବୁଠାରୁ ଓଜନିଆ ପିଲା ନିଜର ଓଜନ କାମଉଛନ୍ତି

fatboy

ବିଶ୍ୱର ସବୁଠାରୁ ମୋଟା ପିଲା ଏବେ କିଛି ଦିନ ତଳେ ନିଜର ଓଜନ କମାଇ ନିଜ ଚେହେରା ରେ ବହୁତ ପରିବର୍ତନ ଆଣିଛନ୍ତି |ଇଣ୍ଡୋନେସିଆ ବାସିନ୍ଦା ଏହା ୧୨ ବର୍ଷ ବୟସ୍କ ଏରିଆ ପେରନାମାଙ୍କ ଓଜନ ଅବିସ୍ମୟ ଭାବେ ବଢିଚାଲିଥିଲା ଓ କିଛିଦିନ ତଳେ ତାଙ୍କ ଓଜନ ପାଖାପାଖି ୨୨୦ କିଲୋ ହୋଇଯାଇଥିଲା |ଏପରିକି ଏହି ଓଜନ ଯୋଗୁ ସେ ଠିକ ସେ ଚାଲି ମଧ୍ୟ ପାରୁନଥିଲେ,ଖେଳିପାରୁନଥିଲେ. କି  କେଉଁଆଡେ ମଧ୍ୟ  ଯାଇ ପାରୁନଥିଲେ |

fatboy

 

ସମସ୍ତ କାମ ପାଇଁ ସେ କାହାର ନ କାହାର ସହାୟତା ଲୋଡୁଥିଲେ |ଯେମିତିକି ଶୈଶବ ତାଙ୍କ ପାଇଁ ଏକ ଦୁଃସ୍ବପ୍ନ ପାଲଟିଯାଇଥିଲା |ଏମିତି କି ତାଙ୍କ ପାଇଁ କୌଣସି ପୋଷାକ ମଧ୍ୟ ହେଉନଥିଲା | ତାଙ୍କର ପୁରା ଦିନ କେବଳ ନିଜ ଘରେ ଥିବା ଟେଲିଫୋନ ସହ ଖେଳି ଖେଳି କିମ୍ବା କଡା କ୍ଵଚିତ ନିଜ ଘର ର ସୁଇମିଙ୍ଗ ପୁଲ ପାଖରେ ବସି ବସି କାଟୁଥିଲା |କିଛି ଦିନ ତଳେ ତାଙ୍କ ର ଅପେରସନ କରାଯାଇ ପାଖାପାଖି ୩.୫ କିଲୋ ଓଜନ କମାଇଦିଏ ଯାଇଛି |

 

fat boy of the world

ଏପରିକି କିପରି କଡା ଲେଉଟାଇଯିବ ତାହା ମଧ୍ୟ ତାଙ୍କୁ ଟ୍ରେନିଂ ମାଧ୍ୟମରେ ଶିଖା ଯାଇଛି |ଏହାପରେ ସେ ଏବଂ ନିଜେ ବିନା କାହାର ସହାୟତା ରେ ଫୁଲବଲ ତଥା ବ୍ୟାଡ୍ମିଟନ ଖେଳି ପାରୁଛନ୍ତି |

fat boy of the world
ତାଙ୍କ ଅପାରସନ ପରେ ମଧ୍ୟ ତାଙ୍କର ଖାଇବା ପିଇବାର ପୁରା ଧ୍ୟାନ ରଖ ଯାଉଛି |ଯେପରିକି ଏବେ ସେ ଦିନକୁ ମାତ୍ର ଚାରି ଚାମଚ ଭାତ ସହ କିଛି ପାରିବ ସିଝା ଖାଇବାକୁ ଦିଅ ଯାଉଛି |ଏପରିକି ତାଙ୍କୁ ଚିନି ତଥା କିଛି ବି ମିଠା ଜିନିଷ ଖାଇବା ପାଇଁ ବାରଣ କର ଯାଇଛି |

 

fat boy of the world

ବିଶ୍ୱ ର ସବୁଠାରୁ ଶସ୍ତା ଦେଶର ତାଲିକାରେ ଭାରତ ଦ୍ଵିତୀୟ ସ୍ଥାନରେ ରହିଛି

trainjourney

ଦିନକୁ ଦିନକୁ ବଦଳୁଥିବା ଭାରତର ଅର୍ଥନୀତି ଦ୍ର୍ୟତା ଗତିରେ ଆଗକୁ ବଢି ଚାଲିଛି |କିନ୍ତୁ ଏକ ସର୍ଭେ ରିପୋର୍ଟ ରୁ ଏକ ନୂଆ ତଥ୍ୟ ସାମ୍ନା କୁ ଆସିଛି | ଭାରତ ଦୁନିଆର ସବୁଠାରୁ ବାସପଯୋଗୀ ଶସ୍ତା ଦେଶର ତାଲିକାରେ ଦ୍ଵିତୀୟ ସ୍ଥାନରେ ରହିଛି |ସାଉଥ ଆଫ୍ରିକା ଦୁନିଆର ସବୁଠାରୁ ଶସ୍ତା ସ୍ଥାନ ଭାବେ ରହିଛି ପ୍ରଥମରେ | ଆପଣ ନିଜର ଜୀବନ କଟାଇପାରିବେ ବା ଅବସର ପରେ ସେଠାରେ ଆରାମରେ ଆରାମରେ ରହିପାରିବ |

trainjourney

 

ଏହି ସର୍ଭେ ୧୧୨ ଟି ଦେଶକୁ ନେଇ କରାଯାଇଥିଲା |
GoBankigRates ସଂସ୍ଥା ଦ୍ଵାରା କରାଯାଇଥିବା ଏହି ସର୍ଭେ ଦ୍ଵାରା ସମସ୍ତ ଦେଶର ୫ ସେବା କୁ ବିଚାରକୁ ନେଇ ଏହି ରିପୋର୍ଟ ପ୍ରକାଶ କରାଯାଇଛି |ଏହି ଚାରି ଟି ସେବା ହେଲା ସ୍ଥାନୀୟ କିଣାବିକା ,ପାୱାର ସପ୍ଲାୟା ,ଭଡା ବାବଦ ଖର୍ଚ ,ସଉଦା ଖର୍ଚ ,ଉପଭୋକ୍ତା ଖର୍ଚ |

 

malleshwaram

ଭାରତରେ ରହିବା ବାବଦ ଭଡା ଯୋଗୁ ଏହା ୫୦ ଟି ଦେଶ ମଧ୍ୟରେ ଦ୍ଵିତୀୟ ସ୍ତନ ରେ ରହିଛି |ଭାରତରେ ମିଳୁଥିବା ସଉଦା ଓ ନିତ୍ୟ ଵ୍ୟଵହାଯ୍ୟ ସାମଗ୍ରୀ ର ମୂଲ୍ୟ ମଧ୍ୟ ବାକି ଦେଶ ତୁଳନାରେ ବହୁତ କମ ଅଛି |ଯାହାକି ଜଣେ ବ୍ୟକ୍ତି ମାସିକ ୧୮,୨୫ ଟଙ୍କାରେ ମଧ୍ୟ ଆରାମରେ ଚାଲି ପାରିବ |

train

ଭାରତର ସ୍ଥାନୀୟ କିଣାବିକା ହାର ୨୦.୯ % କମ ଅଟେ ବାକି ଦେଶ ଠାରୁ ,ଭଡା ବାବଦ ଖର୍ଚ ୯୨.୨ % ଶସ୍ତା ,ସଉଦା ସାମଗ୍ରୀ ୭୪.୪ % ଶସ୍ତା ଅଟେ ,ସ୍ଥାନୀୟ ସେବା ଓ ଜିନିଷ ର ମୂଲ୍ୟ ୭୪.୭% କମ ଅଟେ |ଭରା ତା ଏହାର ପଡୋଶୀ ଦେଶ ମାନଙ୍କ ଠାରୁ ମଧ୍ୟ ବହୁତ ଶସ୍ତା ଅଟେ ଯାହାକି ପାକିସ୍ତାନ (୧୪ ) , ନେପାଳ (୨୮ ), ବାଂଲାଦେଶ (୪୦ )|

service

ଏହି ସର୍ଭେ ଦ୍ଵାରା ଜଣ ଯାଇଛି ଯେ ଭାରତରେ ଭଡା ବାବଦ ଖର୍ଚ ଆମେରିକାର ନ୍ୟୁୟର୍କ ସହର ଠାରୁ ୭୦ % ଶସ୍ତା ଅଟେ ,ସଉଦା ସାମଗ୍ରୀ ୪୦ % ଶସ୍ତା ,ସ୍ଥାନୀୟ ସେବା ସବୁ ୪୦% ଶସ୍ତା ଅଟେ |

market

MRI ମେସିନ ରୁମ ଭିତରେ ଫସି ଯାଇ ଯୁବକଙ୍କ ପ୍ରାଣ ଗଲା

ଡାକ୍ତରଙ୍କ ଅବହେଳା ଯୋଗୁ ୩୨ ବର୍ଷ ବୟସ୍କ ଯୁବକଙ୍କ ପ୍ରାଣ ଚାଲି ଗଲା |ସୂଚନା ଅନୁଯାଇ ୩୨ ବର୍ଷ ବୟସ୍କ ରାଜୁ ମାରୁ ମୁମ୍ବାଇ ର ଏକ ହସ୍ପିଟାଲ ରେ MRI ମେସିନ ଦ୍ଵାରା ପ୍ରାଣ ହରାଇଛନ୍ତି ଯେତେବେଳେ ସେ ଏକ ଅକ୍ସିଜେନ ସିଲିଣ୍ଡର ଧରିଥିଲେ | ବିସ୍ତୃତ ଭାବେ କହିବାକୁ ଗଲେ ଯଦି କୌଣସି ବ୍ୟକ୍ତି MRI ରୁମ ଭିତରକୁ ପ୍ରବେଶ କରନ୍ତି ସେତେବେଳେ କୌଣସିବି ଧାତୁ ରେ ତିଆରି ଜିନିଷକୁ ସାଙ୍ଗରେ ନେଇ ଯିବାର ଅନୁମତି ନଥାଏ |

 

କିନ୍ତୁ ଯେତେ ବେଳେ ରାଜୁ ମାରୁ MRi ରୁମ ଭିତରକୁ ପ୍ରବେଶ କଲେ ସେତେବେଳ ତାଂକ ହାତରେ ଅକ୍ସିଜେନ ସିଲିଣ୍ଡର ଯାହାକି ଲୁହରେ ତିଆରି ତାହା ଥିଲା |ଏହି ଅକ୍ସିଜେନ ସିଲିଣ୍ଡର ସେ ନିଜର ସମ୍ପର୍କୀୟଙ୍କ ପାଇଁ ସହାୟତା ପାଇଁ ଧରିଥିଲେ ଯିଏ କି ସେହି ହସ୍ପିଟାଲ ରେ ଆଡମିଟ ହୋଇଥିଲେ |

 

mri accident

ଯେତେବେଳେ ତାଙ୍କର ସେଇ ସମ୍ପର୍କୀୟ ଜଣକ MRI ପାଇଁ MRI ରୁମ କୁ ଯାଇ ଥିଲେ ସେତେବେଳେ ରାଜୁ ମଧ୍ୟ ତାଙ୍କର ସହାୟତା ପାଇଁ ନିଜ ହାତରେ ସେ ସିଲିନଦିର କୁ ଧରି MRI ରୁମ କୁ ଯାଇ ଥିଲେ |MRI ହେଉଥିବା ସମୟ ରେ MRI ମେସିନ ରୁ ବାହାରୁ ଥିବା ଚୁମ୍ବକୀୟ ବଳୟ(magnetic field ) ସଂସ୍ପର୍ଶରେ ଅସିଜାଇଥିଲେ |ଯଦ୍ଵାରା ସେ ଆହତ ହୋଇ ମୃତ୍ୟୁ ବାରଣ କରିଥିଲେ |

 

ମୃତ ରାଜୁଙ୍କ ପରିବାର ଲୋକେ ହସ୍ପିଟାଲ କତୃପକ୍ଷଙ୍କ ଦାଇତ୍ୱହୀନତା ବିରୋଧରେ ଅଭିଯୋଗ କରିବାରୁ ହସ୍ପିଟାଲ କତୃପକ୍ଷ ସେଇ ସମୟରେ ସେଠାରେ ଉପସ୍ଥିତ ଥିବା ଏକ ୱାର୍ଡ ବୟ କୁ ସସ୍ପେଣ୍ଡ କରିଦେଇଛନ୍ତି ଯିଏକି ରାଜୁ ଙ୍କୁ ସେଇ ମେଟାଲ ଅକ୍ସିଜେନ ସିଲିନଦିର ଭିତରକୁ ନେଇ ଯିବାକୁ ଅନୁମତି ଦେଇଥିଲା |

 


ଏହି ଘଟଣା ଟି ଘଟିଥିଲା ରାତି ୮:୩୦ ରେ ଯେତେବେଳେ କି ପୁରା ଫାମିଲି ନିଜର ସମ୍ପର୍କୀୟଙ୍କ ଚିକତ୍ସା ପାଇଁ ଡାକ୍ତରଙ୍କ ଅପେକ୍ଷା କରିଥିଲେ |ଏହି ଘଟଣାଟି ଘଟିବା ପରେ ମୁମ୍ବାଇ ର ନାୟର ହସ୍ପିଟାଲ ବିରୁଦ୍ଧରେ ଏକ FIR ଦାୟର କରାଯାଇଛି |ଏହି FIR ଟି IPC ଅନ୍ତର୍ଗତ 304A ରେ ଦୟାୟର କରା ଯାଇଛି |ମାରୁ ଙ୍କ ଶଳା ଙ୍କ କହିବା ଅନୁଯାଇ ତାଂକ ମା ସେହି ହସ୍ପିଟାଲ ରେ ଆଡମିଟ ହୋଇଥିଲେ ଓ ମାରୁ ତାଙ୍କର ସହାୟତା ପାଇଁ ସେଠାକୁ ଆସିଥିଲେ |

ଖୁବ ଶୀଘ୍ର ୧୦୦ କୋଟି କ୍ଲବ ରେ ସାମିଲ ହେବାକୁ ଯାଉଛି ‘ପଦ୍ମାବତ ‘

ସଞ୍ଜୟ ଲୀଳା ବଂଶାଲୀଙ୍କର ଫିଲ୍ମ ପଦ୍ମାବତ ର ପ୍ରତିଟି ଦୃଶ୍ୟ ଉଚ୍ଚକୋଟୀର ହେବ ସହ ଦର୍ଶକଙ୍କ ର ଦୃଷ୍ଟି ଆକର୍ଷଣ କରିବାରେ ସଫଳ ହେଇଚି |ଏହି ଫିଲ୍ମ ଟି ରିଲିଜ ହେବାର ପ୍ରଥମ ଦିନ ଯାହାକି କୌଣସି ଛୁଟି ଦିନ ନଥିବାରୁ ଏତେ କିଛି କମାଲ କରିପାରିନଥିଲା | କିନ୍ତୁ ଡ଼ିତଟୀୟ ଦିନ ଏହି ଫିଲ୍ମ ପୁରା ଜୋଶ ର ସହ ଚାଲିବ ସହ ଭଲ ଆୟ କରିଛି |

 

 

ଶୁକ୍ରବାର ଦିନ ଜାନୁଆରୀ ୨୬ ପଡ଼ିଥିବାରୁ ଫିଲ୍ମ ଟି ପାଖାପଖି ୩୨ କୋଟି ଟଙ୍କା ଆୟ କରିଛି |ସପ୍ତାହର ଶେଷ ଦିନ ମାନଙ୍କରେ ମଧ୍ୟ ଫିଲ୍ମ ଟି ଭଲ ଆୟ କରିବ |ମିଳିଥିବା ଖବର ଅନୁଯାଇ ତିନି ଦିନ ଭିତରେ ଫିଲ୍ମ ଟି ପାଖାପାଖି ୧୦୦ କୋଟି ଟଙ୍କା ଆୟ କରିଛି ଓ ଖୁବ ଶୀଘ୍ର ଏହା ୧୦୦ କୋଟି କୁ ଟପି ଯିବାର ସମ୍ଭାବନା ଅଛି |

 

 

 

ଅନୁମାନ ମୁତାବକ କେବଳ ଭାରତ ରେ ଏହା ସପ୍ତାହର ଶେଷ ଦିନ ରେ ୨୭ କୋଟି ଟଙ୍କା ଆୟ କରିଛି |କାଲି ସୁଧହା ଫିଲ୍ମ ଟି ମୋଟା ୫୨ କୋଟି ଟଙ୍କା ଆୟ କରିଛି |ଯଦି ତୃତୀୟ ଦିନକୁ ମିଶାଇ ଦିଆଯାଏର ତେବେ ଏହା ମୋଟ ୮୨ କୋଟି  ଟଙ୍କା ର ବ୍ୟବସାୟ କରିସାରିଲେଣି |ଫିଲ୍ମଟି ଧୀରେ ଧୀରେ ୧୦୦ କୋଟି କ୍ଲବ ରେ ସାମିଲ ହେବାକୁ ଯାଉଛି |

 

 

Paid previews – ୫ କୋଟି

Day ୧ – ୧୮ କୋଟି

Day ୨ – ୩୨ କୋଟି

Day ୩ – ୨୭ କୋଟି

Total – ୮୨ କୋଟି

ନିଜର ପ୍ରେମିକା କୁ ଦେଖା କରିବାକୁ ଯାଇ ଚେନ୍ନାଇ ପୋଲିସ ଅଫିସର ତାକୁ ହତ୍ୟା କଲେ

ଦିନକୁ ଦିନ ସୋସିଆଲ ମିଡ଼ିଆ ରେ ଅପରାଧର ସଂଖ୍ୟା ବଢ଼ିବାରେ ଲାଗିଛି |ଏହାର ସଦ୍ୟ ଉଦାହରଣ ହେଉଛି ଚେନ୍ନାଇ ର ଏକ ପୋଲିସ ଅଫିସର ଜଣେ ୨୨ ବର୍ଷ ବ୍ୟକ୍ତି କୁ ହତ୍ୟା କରି ଛନ୍ତି |ଯେତେ ବେଳେ ସେ ଜାଣିବାକୁ ପାଇଲେ ଯେ ସେ ଦୀର୍ଘଦିନ ଧରି ଚାଟ କରୁଥିବା ବ୍ୟକ୍ତି ଙ୍କର ଆକାଉଣ୍ଟ ଟି ଏକ ଫେକ ଆଇଡି ଓ ଏହା କୌଣସି ମହିଳା ନୁହେ ବରଂ ଜଣେ ପୁରୁଷଙ୍କ ର ସେତେ ବେଳେ ରାଗି କରି ସେ ତାଙ୍କୁ ହତ୍ୟା କରଦେଲେ |

ଖବର ଅନୁଯାଇ ୩୨ ବର୍ଷ ବୟସ୍କ କନେଷ୍ଟବଳ ଓ ତାଙ୍କ ତିନି ଜଣ ସଙ୍ଗ ମିଶି କରି ଜଣେ ୨୨ ବର୍ଷ ବୟସ୍କ ବ୍ୟକ୍ତି ଙ୍କୁ ହତ୍ୟା କରିଥିଲେ ଯିଏକି ଭିରୁଧନାଗାର ଜିଲ୍ଲା ର ପୁଡ଼ୁପତ୍ତି ର ବାସିନ୍ଦା ଥିଲେ | କନେଷ୍ଟବଳ କାନନ କୁମାର ଯେତେ ବେଳେ ପୋଙ୍ଗଲ ପାଇଁ ୧୦ ଦିନ ର ଛୁଟି ନେଇ ନିଜ ଗ୍ରାମ କୁ ଯାଉଥିଲେ ସେତେବେଳେ ସେ ଦୀର୍ଘ ଦିନ ଧରି ଚାଟ କରୁଥିବା ବ୍ୟକ୍ତି ଯାହାକୁ କି ସେ ଜଣେ ମହିଳା ବୋଲି ଭାବୁ ଥିଲେ ଦେଖାକରିବା ପାଇଁ ଯାଇଥିଲେ |

କିନ୍ତୁ ଯେତେ ବେଳେ ସେ ଜାଣିବାକୁ ଆପି ଥିଲେ ଯେ ସେ ଚାଟ କରୁଥିବା ବ୍ୟକ୍ତି ଜଣକ ଜଣେ ମହିଳା ନୁହନ୍ତି ବରଂ ଜଣେ ପୁରୁଷ ବୋଲି ସେ ତାଙ୍କ ର ତିନି ଜଣ ସାଙ୍ଗଙ୍କ ଶହ ମିଶି ତାଙ୍କୁ ହତ୍ୟା କରିବା ପାଇଁ ଯୋଜନା କରିଥିଲେ |

ଏହାପରେ ପୋଲିସ ଅନୁସନ୍ଧାନ କରି ତାର ତିନି ଜଣ ସାଙ୍ଗ ବିଜୟ କୁମାର,ତେଞ୍ଜିଙ୍ଗ ୱାଲିସ,ତାମିଲରସନ କୁ ଅରରେଷ୍ଟ କରିଛି |ଅୟନର ,ନିଜର ଏକ ଫେକ ପ୍ରୋଫାଇଲେ ଫସବୁକ ରେ ବଣାଇ ନିଜକୁ ଜଣେ ଟିଚର ପରିଚୟ ଦେଇ କନେଷ୍ଟବଳ କାନନ କୁମାର ସହ ଦୀର୍ଘ ଦିନରୁ କଥା ବାର୍ତା କରୁଥିଲା |କାନନ କୁମାର ମଧ୍ୟ ତାକୁ ଜଣେ ମହିଳା ଭାବି ତା ସହ ନିଜର ପ୍ରେମ ସମ୍ପର୍କ କୁ ଆଗ କୁ ବଢ଼ିଥିଲା |

ବ୍ରାଜିଲ ର ଏକ କ୍ଲବ ରେ ଆକ୍ରମଣ

ବ୍ରାଜିଲ ର ଏକ ଡାନ୍ସ ବାର ରେ ଗୁଳିକାଣ୍ଡ ଘଟି ବହୁତ ଲୋକଙ୍କର ମୃତ୍ୟୁ ଘଟିଛି| ଲୋକାଲ ମିଡ଼ିଆ ଖବର ଅନୁଯାଇ ପାଖାପାଖି ୧୪ ଲୋକଙ୍କର ମୃତ୍ୟୁ ଘଟିଛି | ଏହି ହତ୍ୟା କାଣ୍ଡ ବ୍ରାଜିଲ ର ଫୋର୍ଟଲେଜ଼ା ସହରରେ ଘଟିଛି |

ବ୍ରାଜିଲ ସୁରକ୍ଷା ବାହିନୀ ର କହିବା ଅନୁଯାଇ ପାଖାପାଖି ୬ ଜଣ ଶିଶୁ ମଧ୍ୟ ଆହତ ହୋଇଛନ୍ତି |ଏହି ହତ୍ୟା କାଣ୍ଡ ଟି ଦୁଇ ଡ୍ରଗ୍ସ ଗ୍ୟାଙ୍ଗ ମଧ୍ୟରେ ହୋଇଥିବା ପୋଲିସ ଅନୁମାନ କରୁଛି |

 

କିନ୍ତୁ ଅଧିକାଂଶ ମୃତାହତ ବ୍ୟକ୍ତି କୌଣସି ମଧ୍ୟ ଅପରାଧ ସହ ସମ୍ପୃକ୍ତ ନଥିବା ପୋଲିସ କହିଛି| ରାତି ପାଖାପାଖି ୧:୩୦ ୧୫ ଜଣ ବନ୍ଧୁକ ଧାରୀ ଏକ କାର ରେ ଆସି ପହଂଚିଥିଲେ ଓ କେହି କିଛି ବୁଝିବା ଆଗରୁ ହଠାତ ଗୁଳି ଚଳାଇଥିଲେ |

ପାଖାପାଖି ଆଧ ଘଣ୍ଟା ଧରି ଚାଲଇଟିବା ଏହି ଆକ୍ରମଣ ରେ ବହୁତ ଲୋକ ମୃତ୍ୟୁ ବାରଣ କରିବା ସହ ଆହତ ହୋଇଥିଲେ |୧୨ ଜଣ ବ୍ୟକ୍ତିଙ୍କର ଘଟଣା ସ୍ଥଳ ରେ ହିଁ ମୃତ୍ୟୁ ହୋଇଯାଇଥିଲା |ବାକି ୨ ଜଣ ହସ୍ପିଟାଲ ରେ ମୃତ୍ୟୁ ବାରଣ କରିଥିଲେ |ମୃତକଙ୍କ ମଧ୍ୟରେ କିଛି ଲୋକ ,୪ ଜଣ ମହିଳା ,୨ ଜଣ ଛୋଟ ପିଲା ଥିଲେ |

 

 

 

ତାମିଲ ନାଡୁ MLA ମହିଳା ମାନଙ୍କୁ କିଭଳି ବ୍ୟବହାର କରନ୍ତି ଦେଖନ୍ତୁ

ଘଟଣାଟି ହେଉଛି ତାମିଲନାଡୁ ର | ସେଠାକାର ଜଣେ ବିଧାୟକ ଙ୍କୁ ଗୋଟିଏ ସଭା ରେ ଯୋଗ ଦେବା ପାଇଁ ଡାକ ଯାଇ ଥିଲା | ସଭା ଶେଷ ହେବ ପରେ ବିଧାୟକ ଜଣଙ୍କ ନିଜର ସମସ୍ତ ପାର୍ଟି ମେମ୍ବର ମାନଙ୍କ ସହ ସଭା ସ୍ଥଳରେ ଫୋଟୋ ଉଠାଇଥିଲେ | କିନ୍ତୁ ସେଥରେ ଥିବା କେତେକ ମହିଳା ପାର୍ଟି କର୍ମୀ ଯେତେ ବେଳେ ଫୋଟୋ ଉଠାଇବାକୁ ଆସିଲେ ସେତେବେ ସେ ସେମାନଙ୍କୁ ଟାଣ ଓଟରା କରିବା ସହିତ ସର୍ବ ସମ୍ମୁଖରେ କିଭଳି ବ୍ୟବହାର କରିଥିଲେ ଦେଖନ୍ତୁ ଏହି ଭିଡିଓ ରେ |